क्या आप तुलसी के सभी चमत्कारी फायदे जानते है?

तुलसी एक ऐसा पौधा है जिसका आयुर्वेद में एक विशेष स्थान है क्योंकि तुलसी के अनगिनत गुण है। तुलसी कई रोगों को नष्ट करने में सहायक है। तुलसी के कई प्रकार होते हैं जैसे राम तुलसी एवं श्याम तुलसी।

तुलसी के चमत्कारिक फायदे:

  • सिर दर्द में राहत:

तुलसी का रस निकाल लें और उसमें पीसी हुई काली मिर्च मिला लें एवं इस लेप सिर पर लगाकर छोड़ दें, 30 मिनिट के बाद इसे धो लें। इस लेप से किसी भी प्रकार का सिर दर्द क्यों न हों बहुत ही जल्दी राहत मिलती है।

  • सर्दी जुखाम में राहत:

तुलसी के काढ़े के बारे में तो सभी ने सुना होगा। तो अगर किसी को सर्दी जुखाम और इसकी वजह से गले में दर्द है तो तुलसी, सोंठ, गुड, काली मिर्च का काढ़ा बनाकर पीने से इन सभी समस्याओं से निजात मिलता है।

  • चर्म रोगों में फायदा:

चर्म रोगों में तुलसी को महारथ हासिल है। किसी भी प्रकार का चर्म रोग क्यों न हो, तुलसी उससे दूर करने में सहायक है। तुलसी के पत्तों को पीस लें और उसमें थोडा सा चूना मिला लें और और बिल्कुल थोड़ी सी हल्दी मिला लें। इसके बाद इस लेप को चर्म रोग वाली जगह पर लगायें, कुछ ही दिनों में चर्म रोग जड़ से नष्ट हो जाते हैं।

  • पेट की तकलीफ में राहत:

तुलसी पेट और पाचन सम्बन्धी समस्यों में भी बहुत फायदा पहुँचाती है। इसके लिए बाज़ार में तुलसी अर्क नाम से एक औषधी मिलती है। इसका नियमित प्रयोग करने से पाचन सम्बन्धी सभी समस्याएँ दूर होती हैं।

  • कान दर्द में राहत:

कान के दर्द के लिए काली तुलसी को महत्वपूर्ण माना गया है। काली तुलसी मरुआ के नाम से भी प्रसिद्द है। काली तुलसी के पत्तों से रस निकाल कर उसे कान में डालने से कान के दर्द में बहुत फायदा मिलता है। साथ ही काली तुलसी अगर घर में लगी हो तो सर्प भी घर में प्रवेश नहीं करते।

इस प्रकार से काली तुलसी और राम तुलसी के बहुत फायदे हैं दोनों का ही प्रयोग आयुर्वेद में दवाओं को बनाने में किया जाता है।