पालतू जानवर और कोरोना का कोई सम्बन्ध है या नहीं?

कोरोना के चलते कई तरह के सवाल व्यक्तियों पर तो उठ ही रहे हैं साथ ही पालतू जानवरों को भी संदेह में रखा जा रहा है।  कई लोगों के मन मैं यह सवाल है कि क्या पालतू जानवर भी कोरोना पीड़ित हैं और उन्हें छूने से भी कोरोना हो सकता है। अमेरिका में 2 कुत्ते और एक बिल्ली की कोरोना के चलते जाँच की गई थी। लेकिन विशेषज्ञों ने इस बात का खुलासा किया है कि जानवरों में कोरोना के कोई लक्षण देखने को नहीं मिले हैं एवं उनसे कोरोना नहीं फ़ैल रहा है।

क्या कुत्ते और बिल्लियों में कोरोना पाया गया है?:

कुछ रिपोर्ट में बिल्लियों को हल्की श्वसन संबंधी समस्याएं देखी गई थी लेकिन यह कोरोना से सम्बंधित नहीं थीं। लेकिन SARS-CoV-2 में इंसानों के साथ जानवर भी बीमार हुए थे और हैं। लेकिन कोरोना में ऐसा कुछ भी नहीं देखा गया है। विश्व में जब यह बात सामने आई कि पालतू जानवरों की भी संदेह के अंतर्गत जाँच की जा रही है तो विश्व में एक चिंताजनक स्थिति बन गई थी।

अगर ऐसा होता कि यह बीमारी पालतू जानवरों से भी फैलती तो इसे रोकना बहुत अधिक मुश्किल हो जाता। हाँ जानवरों में श्वसन संबंधी समस्याएं जरूर देखी गई हैं लेकिन इसका कोरोना से कोई भी सम्बन्ध नहीं है। WHO ने अपनी रिपोर्ट में यह बात बिल्कुल साफ़ शब्दों में कही है कि पालतू जानवर जैसे कुत्ते और बिल्ली में कोरोना संक्रमण नहीं देखा गया है। लेकिन इसके बाद भी लोगों को सावधानी बरतना चाहिए। और कई प्रकार के निर्देश दुनिया भर में प्रकाशित किये गए जिससे कोरोना से बचा जा सके।

क्या व्यक्ति से पालतू जानवर को कोरोना होने की सम्भावना है?:

अमेरिका के 2 कुत्ते और एक बिल्ली को कोरोना परिक्षण के लिए भेजा गया था क्योंकि उनके मालिक कोरोना से पीड़ित थे लेकिन इन जानवरों में ऐसे कोई भी लक्षण देखने को नहीं मिले हैं। तो यह कहा गया कि न तो जानवरों से व्यक्ति में कोरोना फ़ैल रहा है न ही व्यक्ति से जानवरों में यह वायरस फ़ैल रहा है।

तो अब तो आप समझ ही गए होंगे कि यह बीमारी पालतू जानवरों में नहीं पाई जा रही है लेकिन इसके बाद भी सभी को सतर्क रहने की बहुत आवश्यकता है।